गढ़वा में बाबूलाल जी का बयान

गढ़वा जिला अंतर्गत्त मेराल प्रखंड के हाई स्कूल के मैदान में जनादेश यात्रा पर पहुंचे झाविमो प्रदेश अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी शुक्रवार को जनसभा की। जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षित, स्वच्छ, स्वास्थ्ययुक्त तथा भ्रष्टाचार मुक्त समृद्ध झारखंड बनाने के लिए आप सबों का आशीर्वाद, जनादेश तथा सहयोग मांगने आया हूं। श्री मरांडी ने कहा भाजपा राज्य सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। इसने झारखंड वासियों को विकास के नाम पर ठगने का काम किया है और अब जब चुनाव का समय आया तो मुख्यमंत्री लोगों को रिझाने के लिए विकास की बातें कह रहे हैं,. परंतु दूर दूर तक जमीनी स्तर पर विकास दिखाई नहीं दे रहा।
श्री मरांडी ने रघुवर दास की सरकार का पोल खोलते हुए कहा कि इनके कार्यकाल में संसाधनों से परिपूर्ण झारखंड का विकास नहीं बल्कि विनाश किया गया है। 5 साल में राज्य में 1 मेगावाट भी बिजली उत्पादन की क्षमता नहीं बढी, अब मुख्यमंत्री 2022 तक सभी गांव को 24 घंटा बिजली देने का वादा कर रहे हैं। सरकार किसानों के लिए कुछ नहीं किया. अब कृषि आशीर्वाद योजना के नाम पर किसानों को पांच-छह हजार रुपये का प्रलोभन देकर ठगने का प्रयास कर रही है।
मरांडी ने कहा कि राज्य सरकार ने मोमेंटम झारखंड के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च कर हाथी उड़ाने का काम किया, परंतु इसका जमीन पर काम नहीं दिखा। नए कल कारखाने तो लगे नहीं बल्कि जो कल का खाने चल रहे थे वह भी बंद हो रहे हैं जिससे राज्य में बेरोजगारी बढ़ी है। किसान-मजदूर हित में कोई भी नीति नहीं बनी। रघुवर दास के कार्यकाल में गरीबी एवं भ्रष्टाचार चरम पर है ,सड़क बिजली, शिक्षा ,तथा किसानों की स्थिति अत्यंत दयनीय हो गयी है। पारा शिक्षकों तथा आंगनबाड़ी कर्मियों के साथ सरकार दमन कर रही है। किसानों को उनके उत्पाद का सही दाम नहीं मिल रहा। किसान बेहाल हैं।
श्री मरांडी ने जनता से अपील करते हुए कि कहा कि आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा के झांसे में जनता न आये और झाविमो को जनादेश दें. आगे कहा कि अगर झाविमो की सरकार आती है तो सिचाई, शिक्षा, रोजगार, बिजली, पानी तथा सड़क बनाने के क्षेत्र में काम होगा। सरकारी स्कूलों को ठीक करने के साथ-साथ प्राइवेट स्कूलों में भी गरीब मजदूर-किसानों के बच्चों के लिए 25 फीसद आरक्षण दिलाएंगे। सभा में बड़ी संख्या में उपस्थित महिलाओं को संबोधित करते हुए श्री मरांडी ने कहा कि सरकारी नौकरी से लेकर सभी क्षेत्रों में महिलाओं को बराबर की हिस्सेदारी दिलाई जाएगी। सरकारी कर्मियों द्वारा पुरानी पेंशन लागू करने की मांग पर उन्होंने कहा कि अगर मेरी सरकार बनी तो झारखंड में पुरानी पेंशन व्यवस्था अवश्य लागू किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *